* सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ कानूनी रूप से मजबूत लड़ाई लड़ने के लिए रहें तैयार :अमीर शरीयत

* इमारत   शरिया  में देशभर के वकीलों की बैठक ,पूरे मुल्क में  आंदोलन को मजबूत करने का लिया गया संकल्प

पटना(शाद)संसद में गृहमंत्री अमित शाह के दिलाये गये उस भरोसा पर तीन राज्यों बिहार,उड़ीसा,झारखंड की सबसे बड़ी धार्मिक मुस्लिम संस्था इमारत शरिया को यक़ीन नहीं है.जिसमें कहा गया है कि  एनपीआर में कोई काग़ज़ात नहीं मांगे जायेंगे,कोई जानकारी नहीं देने पर ‘D’मार्क भी नहीं होगा .इमारत शरिया ने आज देशभर के वकीलों की बैठक बुला कर केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ क़ानूनी लड़ाई लड़ने का एलान कर दिया है.इस महत्वपूर्ण बैठक में सुप्रीम कोर्ट से लेकर गुवाहाटी,कोलकाता हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने भाग लिया.इमारत शरिया के अमीर शरीयत मौलाना वली रहमानी ने इस मौक़े पर कहा कि  केंद्र सरकार के विशेष एजेंडे के तहत सदन देश के कमजोर, पिछड़े वर्गों और अल्पसंख्यकों  को परेशान करने के लिए कानून पारित कर रहा है.जो कमजोर वर्गों को दर बदर होने के लिए मजबूर कर सकता है.

नागरिक संशोधन कानून, एनपीआर और एनआरसी इन तीन कानूनों ने देश के भीतर चिंता की स्थिति पैदा कर दी है.कानून निर्माता इस मुद्दे के विभिन्न पहलुओं पर सोच विचार के लिए यहां  जमा हुए हैं. भविष्य के जोखिमों और चिंताओं का सामना करने के लिए आपको इस समय अपने कानूनी कौशल का लाभ उठाने के लिए पूरी तरह से तैयार रहना होगा. अलमाहदउलअलली इमरत शारिया फुलारी शरीफ, पटना में हुई  बैठक में गुवाहाटी हाईकोर्ट के एडवोकेट एएस तपेदर और सुप्रीम कोर्ट के एमआर शमशाद  शामिल थे.

सुप्रीम कोर्ट  के एडवोकेट एम आर शमशाद ने नागरिकता संशोधन कानूम के बारे में लोगों को विस्तार से बताया कि यह तीनों कानून मुल्क और दस्तूर के खिलाफ है ,केंद्र सरकार इसे एक पोलिटिकल मुद्दा बनाना चाहती है ,इसलिए इस मसले को कानून के साथ पॉलिटिकल तौर पर भी हल करना होगा . गुवाहाटी हाई कोर्ट के वकील अब्दुस शकुर  तपेदार ने असम में हुए एनआरसी के अनुभव के बारे में बताया कि हमें हालात से तो डरना है और ही मायूस होना है , उनहोंने पीड़ित लोगों के बारे में कानूनी पैरवी और कुछ फैसलों का हवाला देते हुए कहा कि वहां सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में काम आरंभ हुआ  था मगर पूरे देश में किस प्रकार से यह काम होगा किसी को कुछ पता नहीं . इमारत शरिया के कार्यवाहक महासचिव मौलाना मोहम्मद शिबली कासमी ने मेहमानों का अभिनंदन किया और कहा कि आप लोग बड़ी महत्वपूर्ण चीजों पर सोच विचार करने के संबंध में यहाँ आए हैं .इसके लिए हम आप के आभारी हैं ,देश इस समय जिस संकट से जूझ रहा है उसमें आप लोगों कि अभी बहुत ज़रूरत है.अमीर शरीअत कि अगुवाई में इमारत शरिया इस मसले के हल के लिए निरंतर प्रयासरत  है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here