गोवा में फंस गये जदयू नेता बुलंद हाशमी,किशनगंज प्रशासन से मदद की लगायी गुहार

0
18

किशनगंज (शम्स अहमद)कोरोना वायरस ने देश भर में भय का जो वातावरण बनाया है,उसके डर से आम जनजीवन ठप हो गया है.पूरे मुल्क में लॉकडाउन है.लोग घरों में नज़रबंद हैं.जो जहां था,वहीं रुक गया.यह सिर्फ़ आम आदमी के साथ ही नहीं हुआ.बिहार में सत्ताधारी दल के एक नेता भी अपने राज्य से सैंकड़ों किलोमीटर दूर फंस गया है.अब उन्होंने जिला प्रशासन से निकालने के लिए गुहार लगाया है.दरअसल,जदयू के जिला अध्यक्ष बुलंद अख्तर हाशमी किसी कार्यवश एक सप्ताह पहले गोवा गये थे.किशनगंज वापस आने के लिए सोच ही रहे थे कि कोरोना से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल तक देश भर में लॉकडाउन की घोषणा कर दी.

बुलंद हाशमी वहीं फंस गये.अब वह काफी परेशान हैं और जिला प्रशासन से गुहार लगायी है कि किसी भी सूरत में उन्हें गोवा से किशनगंज लाने का प्रबंध किया जाए.मालूम हो कि किशनगंज से क़रीब पंद्रह हज़ार मज़दूर दिल्ली,हरियाणा,पंजाब में फंसे हैं.उनके सामने भुखमरी की स्तिथि है.इस कारण लॉकडाउन की परवाह नहीं करते हुए अपने-अपने घरों के लिए पैदल निकल पड़े हैं.मगर बुलंद हाशमी ऐसा नहीं कर सकते हैं,थक-हार कर आज उन्होंने किशनगंज प्रशासन से संपर्क साधा है.प्रशासन की ओर से अभी कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला है.अब देखना यह है कि पार्टी अपने नेता को गोवा से निकालने का क्या प्रबंध करती है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here