देशद्रोह व फर्जी मुकदमे के विरोध में बेगुसराय के पत्रकारों ने काली पट्टी बांध निकाला प्रतिवाद मार्च

0
25

बेगूसराय(मो. कौनैन अली): जिले में पत्रकारों के द्वारा कहा गया कि अभिव्यक्ति स्वतंत्रता पर सरकार कर रही है हमला। देश के आधे दर्जन से अधिक पत्रकारों पर किये गये देशद्रोह जैसे फर्जी मुकदमें के खिलाफ जिले के पत्रकारों ने बुधवार को शहर में प्रतिवाद मार्च निकाला। प्रेस क्लब से जुलूस निकाल पत्रकारों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। पत्रकारों ने सभी पत्रकारों पर से फर्जी मुकदमें वापस लेने की मांग की। काली पट्टी बांध पत्रकारों ने बैनर के साथ मार्च किया। जुलूस का नेतृत्व पत्रकार विजय कुमार एवं जीवेश तरुण कर रहे थे। प्रेस क्लब से जुलूस निकालते हुए कैंटीन, कचहरी चौक, नगर थाना चौक होते हुए कलक्ट्रेट के दक्षिण गेट पर पहुंच सम्पन्न हुआ। इसमें सभा का भी आयोजन किया गया, मौके पर वक्तार्ओं ने कहा कि पत्रकारों पर हमला करने की सरकार की प्रवृति बढ़ी है, आये दिन पत्रकारों पर दमन हो रहा है। यह अघोषित आपातकाल की तरह है। जीवेश तरुण ने कहा लोकतंत्र में अभिव्यकि की आजादी है और सरकार पत्रकार पर हमले करने वालों को जेल भेजने की बात करती रही है..मगर आज के दिन खुद सरकार द्वारा ही पत्रकारों पर फर्जी मुकदमा व विभिन्न तरह की यातनाएं हो रही है.. जबकि संविधान में सबको अपनी बातें रखने का अधिकार है। लोकतंत्र के पक्ष में खड़े रहने वाले पत्रकारों पर हमला किया जा रहा है। पत्रकारों पर हमले का एकजुटता के साथ प्रतिवाद होना चाहिए। तभी लोकतंत्र और संविधान को बचाया जा सकता है। इस कार्यक्रम में पत्रकार संजय सिन्हा, अवधेश कुमार, अजय शास्त्री,
जितेंद कुमार, संतोष कुमार, रामकुमार, मो. मुमताज़ अली, केशव भारद्वाज, नवी आलम, रामसेवक स्वामी, रवि शंकर, गोलू कुमार, धर्मेंद्र कुमार सहित दर्जनों पत्रकार मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here