ज़मां खान ने जदयू के मुस्लिम नेताओं को दिया झटका,पसरा मातम,सभी 6 एमएलसी मंत्री बनने की पाले थे मंशा

0
406

सेराज अनवर

Patna:बिहार में बसपा के एकमात्र विधायक ज़मां खान ने केवल मायावती को ही झटका नहीं दिया,जदयू के मुस्लिम नेताओं को भी मायूस कर दिया है.ज़मां का मंत्री बनना तय है.उन्हें अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री बनाया जा सकता है.यह मंत्रालय फिलहाल अशोक चौधरी के पास है.इस विभाग पर जदयू के सभी छह मुस्लिम विधान पार्षदों की निगाह टिकी थी.अली अशरफ़ फ़ातमी भी जोड़तोड़ लगा रहे थे.ज़मां खान के हां-ना,हां-ना करते जदयू ज्वाइन कर लेने से जदयू की मुस्लिम राजनीतिक गलियारे में मातम पसर गया है.

मंत्री पद के दौड़ में विधान परिषद सदस्य प्रो.ग़ुलाम गौस से लेकर मौलाना ग़ुलाम रसूल बलयावी शामिल थे.दोनों मंत्री पद के प्रमुख दावेदार थे.ख़ालिद अनवर,तनवीर हसन भी कम व्याकुल नहीं थे.ख़ालिद की बेचैनी ऐसी थी कि कहते हैं सिफ़ारिश भी करा रहे थे.राजद से जदयू में आए क़मर आलम भी मंत्री बनने की लालसा पाले थे.सलमान रागिब की भी मंशा मंत्री बनने की थी.

मंत्री पद के दौड़ में विधान परिषद सदस्य प्रो.ग़ुलाम गौस से लेकर मौलाना ग़ुलाम रसूल बलयावी शामिल थे.दोनों मंत्री पद के प्रमुख दावेदार थे.ख़ालिद अनवर,तनवीर अख़्तर भी कम व्याकुल नहीं थे.राजद से जदयू में आए क़मर आलम भी मंत्री बनने की लालसा पाले थे.सलमान रागिब की भी मंशा मंत्री बनने की थी.अली अशरफ़ फ़ातमी मनोनयन कोटे से विधान पार्षद बनने की जुगाड़ में हैं,उनकी भी मंशा मंत्री बनने की है.ज़मां खान ने सभी की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है.एक तरह से नीतीश कुमार ने ज़मां खान को पार्टी में शामिल कर जदयू के मुस्लिम नेताओं को तमांचा मारा है.यदि तुम पार्टी के मुस्लिम प्रत्याशियों को जीता नहीं सकते तो बाहर से लाकर हम मंत्री बना देंगे.ज़मां खान पहली बार जीत कर ही मंत्री बनने जा रहे हैं.

मेजर इक़बाल बुके देकर ज़मां खान को बधाई देते

मालूम हो कि जदयू ने इस बार विधानसभा चुनाव में दिल खोल कर 11 मुस्लिम प्रत्याशी उतारे थे और सभी के सभी चुनाव हार गए.पार्टी के 6 मुस्लिम एमएलसी मिल कर भी एक अदद उम्मीदवार को नहीं जीता सके.नीतीश ने भी इनसे ख़ूब बदला लिया.किसी मुसलमान को अल्पसंख्यक मंत्री बनाने की बजाय अशोक चौधरी को मंत्री बना दिया और 25 जनवरी को संभावित मंत्रिमंडल विस्तार में उम्मीद जगी भी तो ज़मां खान को लाकर रही सही कसर पूरी कर दी.ज़मां खान को लाने से अंकगणित में जदयू मज़बूत हुआ है मगर जदयू के क़द्दावर मुस्लिम नेताओं में इसको लेकर कोई ख़ुशी नहीं है,क्योंकि मंत्री बनने की उनकी ख़ुशी काफूर हो गयी है.अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष मेजर इक़बाल हैदर खान ने ज़मां के जदयू ज्वाइन करने पर ख़ुशी का इज़हार किया है.उन्होंने कहा कि ज़मां खान के आने से पार्टी अल्पसंख्यकों में मज़बूत होगी.ज़मां खान ज़मीन से जुड़े नेता हैं और अपने क्षेत्र में असर व रसूख़ रखते हैं.

जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के नेतागण ज़मां खान का पार्टी में स्वागत करते

कैमूर जिले की चैनपुर विधानसभा क्षेत्र से जीत हासिल करने वाले मोहम्मद ज़मां खान ने कहा है कि मैं सरकार में शामिल होकर जनता से किए गए वादों को पूरा कर सकता हूं.उनका यह भी कहना है कि यदि आप सत्ताधारी पार्टी में हैं तो आप अपने वादे को पूरा कर सकते हैं.जनता के लिए सत्ताधारी पार्टी में शामिल होने में कुछ भी गलत नहीं है.अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव अब्दुल बाक़ी ने भी ज़मां खान को बधाई दी है और उम्मीद जतायी है कि पार्टी और मज़बूत होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here