गुलनाज़ को न्याय दिलाने के लिए अब मजलिस कूद पड़ी,48 घंटे का अल्टीमेटम अन्यथा आंदोलन

0
307

पटना(मंथन डेस्क)गुलनाज़ को न्याय दिलाने के लिए अब मजलिस कूद पड़ी है.इस सिलसिले में एआईएमआईएम के सभी पांच विधायकों ने एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपराधियों को 48 घंटे के अंदर गिरफ़्तार कर मुक़दमा चलाने की मांग की है.प्रेस वार्ता दारुल ईमान,मज़ार चौक चूड़ीपट्टी किशनगंज में में हुई. जिसमें विधायक और प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान भी मौजूद थे.

अख़्तरुल इमान ने बताया कि वैशाली जिले में एक लड़की गुलशन आरा (काल्पनिक नाम) जिसने अपने ऊपर भद्दी-भद्दी टिपण्णी एवं छेड़खानी के विरोध करने पर दो बदमाशों सतीश कुमार पिता विनय कुमार राय एवं चंदन कुमार पिता विजय कुमार राय ने बड़ी बेरहमी से बीच सड़क पर मिट्टी तेल डाल कर जला दिया तथा उसे बगल के एक कुंए में फैंक दिया.
इस अमानवीय एवं जघन्य अपराध की एमआईएम घोर निंदा करती है और सरकार से मांग करती है कि अपराधियों को 48 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर उन पर त्वरित मुकदमा चला कर जेल की सलाखों के पीछे भेजा जाये.उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है.पार्टी के प्रतिनिधि लगातार जिला के एसपी, डीएसपी एवं डीएम पर जल्द से जल्द गिरफ़्तारी के लिये दबाव बनाये हुये हैं.अगर अपराधियों की जल्द गिरफ़्तारी नहीं हुई तो पूरे बिहार में आंदोलन चलाया जायेगा.
इस घटना को लगभग 2 सप्ताह हो चुका है.बिहार सरकार एवं पुलिस अभी तक किसी भी प्रकार की मुस्तैदी नहीं दिखा रही है.अपराधी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.गुलशन आरा (काल्पनिक नाम) की मां अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिये धरने पर बैठी हुई है.यह सरकार फासीवादी संगठन के साथ मिलकर राज्य में कानून व्यवस्था स्थापित करने में नाकाम साबित हो रही है.कहां गया सरकार का झूटा नारा, बेटी बचाव, बेटी पढ़ाओं ? आज बिहार ही नहीं पूरे देश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं?
मजलिस, केवल सीमांचल ही नहीं बल्कि पूरे राज्य में गरीबों, मजदूरों, मजलूमों, बेसहारों, दलितों, पिछड़ों एवं वंचितों की आवाज़ है और अन्याय के खिलाफ हर लड़ाई लड़ने के लिये वचनबद्ध है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here