सासाराम:चिराग को ˈवॉक्‌ओव़र; लोजपा पर कुछ नहीं बोले प्रधानमंत्री मोदी,यह रिश्ता क्या कहलाता है?

0
66

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनडीए से अलग हो कर चुनाव लड़ रही लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) पर बिहार में अपनी पहली चुनावी भाषण में एक शब्द भी कुछ नहीं कहा.समझा जा रहा था कि प्रधानमंत्री सासाराम की पहली सभा में एनडीए से लोजपा के रिश्ते को स्पष्ट करेंगे.

पटना(मंथन डेस्क)प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनडीए से अलग हो कर चुनाव लड़ रही लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) पर बिहार में अपनी पहली चुनावी भाषण में एक शब्द भी कुछ नहीं कहा.समझा जा रहा था कि प्रधानमंत्री सासाराम की पहली सभा में एनडीए से लोजपा के रिश्ते को स्पष्ट करेंगे.मालूम हो कि चिराग पासवान न सिर्फ नीतीश कुमार बल्कि भाजपा के लिए भी सिरदर्द बने हुए हैं.भाजपा के 22 बाग़ी लोजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं.चिराग ने अधिक्तर जगह पर जदयू के खिलाफ़ अपना उम्मीदवार उतारा है.हालांकि,बिहार भाजपा ने लोजपा को एनडीए का हिस्सा मानने से इंकार कर दिया है.मगर जदयू प्रधानमंत्री मोदी के मुंह से यह स्पष्टीकरण की चाहत रखता था.मोदी की पहली सभा सासाराम में आयोजित थी,दिलचस्प बात यह है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंच पर मौजूद थे.मोदी के चिराग पर क़ुछ नहीं बोलने से नीतीश को मायूसी हाथ लगी है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सासाराम की सभा को संबोधित करते

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में इतना ज़रूर कहा कि चुनाव में कुछ लोग भ्रम फैलाने के लिए एक-दो चेहरों को बड़ा दिखाने लग जाते हैं.कुछ लोगों के उभरने की बातें फैलाई जाती हैं, लेकिन इससे वोटिंग पर फर्क नहीं पड़ता.बिहार के लोगों ने मन बना लिया है कि जिनका इतिहास बिहार को बीमार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी फटकने नहीं देंगे.

हुआ यूं कि रैली से पहले चिराग ने ट्वीट कर
पीएम मोदी का बिहार में स्वागत कर दिया.उन्होंने लिखा- आदरणीय @NitishKumar जी का इंतजार आज खत्म हो जाएगा।आदरणीय@AmitShah जी के भी कह देने के बाद कि @LJP4India बिहार चुनाव में NDA का हिस्सा नहीं है,नीतीश जी को तसल्ली नहीं हुई।अभी और प्रमाणपत्र चाहिए।आदरणीय@narendramodi जी का स्वागत है

रैली में पीएम मोदी ने लोजपा के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि साथियों हाल ही में बिहार ने अपने दो सपूतों को खोया है, (दूसरेरघुवंश प्रसाद)जिन्होंने यहां के लोगों की दशकों तक सेवा की है. मेरे करीबी मित्र और गरीबों, दलितों के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले और आखिरी समय तक मेरे साथ रहने वाले राम विलास पासवान जी को मैं श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here