डीएम इनायत खान ने भी मनाई होली

0
8
[smartslider3 slider=”7″]

शेखपुरा (श्रीनिवास ) : पूरे देश में इन दिनों धार्मिक कट्टरवाद को लेकर लोग एक-दूसरे के प्रति घृणा का भाव पैदा किया जा रहा वही बिहारा के छोटे से जिले शेखपुरा की जिलाधिकारी इनायत खान सर्वधर्म समभाव का संदेश फैलाने में व्यस्त हैं. होली के अवसर पर उन्होंने अपने आवास पर रंग-गुलाल के साथ सभी धर्म के लोगों से होली खेली और यह संदेश दिया कि मानवता की रक्षा एवं बंधुता बढ़ाने के लिए धर्म कभी उनके आड़े नहीं आयेगी. वह कहती हैं- ‘किसी के सामने धर्म की दीवार नहीं होनी चाहिए, सभी धर्म का एक ही संदेश है, आपस में मिलजुल कर रहें, देश की तरक्की में अपनी भूमिका निभायें और मानवता की सेवा करें.  अपने इसी अंदाज की वजह से वह न केवल अक्सर चर्चा में रहती हैं बल्कि इसके जरिये वह कट्टरवादी सोच के लोगों को जवाब भी देती हैं कि मानवता और भाईचारा सबसे बड़ा धर्म है. इसके बिना मनुष्य का जीवन बेकार है. भारत की यही विशेषता हमें महान बनाता है.
इनायत खान जिस सम्प्रदाय से आती हैं उसके अधिकांश अनुयायी कट्टरवादी सोच के होते हैं. इनायत लगातार उसी मिथक को तोड़ने की कोशिश कर रही हैं. वह बताना चाहती हैं कि साम्प्रदायिक कट्टरता और नफरत के माहौल में मानवता और अनेकता में एकता की मिसाल कायम करनेवालों की कमी नहीं है. इसी सोच के बूते न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया में बंधुता कायम की जा सकती है. बतौर जिलाधिकारी पदस्थापन के साथ ही उन्होंने शेखपुरा जिले में सामाजिक समरसता कायम करने के क्षेत्र में काम करना शुरु कर दिया था. कोशिश आज भी जारी है. यही वजह है कि शेखपुरा जिले में सांप्रदायिक सद्भाव और मानवता के बीच धर्म कभी दीवार बनकर आड़े नहीं आया. होली, दिवाली, दशहरा, ईद और मुहर्रम के मौके पर हिन्दु और मुसलमान साथ-साथ खुशियां बांटते हैं, एक-दूसरे को बधाई देते हैं, सेवइयां और खीर खाते हैं. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here