पलामू:एक दशक से आतंक का पर्याय बना कैला नक्सली गिरफ़्तार

0
11

  • पटना(अरुण कुमार)दस वर्षों से आतंक का पर्याय बना माओवादी संदीप यादव उर्फ कैला यादव उर्फ कईल यादव को पलामू पुलिस ने उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया है।पांकी थाना क्षेत्र के हेड़ुम का रहनेवाला कैला पर 10 मामले दर्ज हैं। जिसमें पांकी थाना क्षेत्र में कैला ने नौ घटनाओं को अंजाम दिया है। जबकि एक मामला बालूमाथ के हेरहरगंज में दर्ज है। एसपी अजय लिंडा ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि कैला हेडुम व मतनाग के जंगली क्षेत्र में अपने दस्ता के सदस्यों के साथ भ्रमणशील है। पांकी थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार रमण के नेतृत्व में छापेमारी टीम का गठन किया गया। जिसके बाद माओवादी कैला व हेड़ुम के ही रहनेवाले उसके सहयोगी शम्भू यादव व अजय यादव को हथियार व गोली के साथ पकड़ा गया। इनके पास से पुलिस को नाइन एमएम का कार्बाईन, एक मैगजीन, नाइन एमएम का 91 गोली मिला है। कैला के सहयोगी अजय यादव पर आधा दर्जन मामला दर्ज है। जिसमें पांच मामला पांकी व एक हेरहंज थाना में है। वहीं शम्भू यादव पर पांकी थाना में एक मामला दर्ज है। छापेमारी दल में पांकी थाना प्रभारी के साथ हीरालाल साह व सैट वन के सशस्त्र जवान शामिल थे।
  • गिरफ्तार माओवादी कैला यादव वर्ष 2010 में माओवादी संगठन से जुड़ा था। पांकी के केकरगढ़, मतनाग क्षेत्र में यह सक्रिय रहा है। वर्ष 2020 के जनवरी माह में वह बुढ़ा पहाड़ पर सक्रिय माओवादियों के दस्ते में भी शामिल रहा है। इसके बाद वह माओवादी दस्ता से निकलकर अपना एक छोटा दस्ता जेएलटी के नाम से बनाया था। लेस्लीगंज थाना क्षेत्र में व्यापारी, ठेकेदार से रंगदारी व लेवी मांगने का काम किया करता था। 14 अप्रैल को पांकी के द्वारिका गांव में रंगदारी मांगने के उद्देश्य से ही डीलर शंकर साव के घर पर फायरिंग किया था। इसके बाद से ही पुलिस लगातार इसकी जानकारी इकट्ठा करने में लगी थी। जिस कारण यह जल्द ही पुलिस के गिरफ्त में आ गया। इसके तीन साथियों को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here