सियासी संकट के बीच बोले कमलनाथ- सौदेबाजी की राजनीति को सफल नहीं होने दूंगा

0
9

मध्य प्रदेश में जारी सियासी घमासान सोमवार को तब और गहरा गया जब कांग्रेस के करीब 20 विधायक बेंगलुरु पहुंच गए. इन विधायकों में कमलनाथ सरकार के 6 मंत्रियों के शामिल होने के कयास हैं. इस पूरे घटनाक्रम के बाद से मध्य प्रदेश में कमलनाथ की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार पर संकट के बादल छाए गए हैं. हालांकि कमलनाथ ने सरकार गिरने की कयासों को खारिज किया और इस बीजेपी की साजिश बताया है.

कमलनाथ ने एक बयान जारी करके कहा है कि बीजेपी माफिया के सहयोग से सरकार गिराने की कोशिश कर रही है और वह इन कोशिशों को सफल नहीं होने देंगे. उन्होंने कहा कि सौदेबाजी की राजनीति जनता के लिए हितकारी नहीं है और उनका लक्ष्य सत्ता पाना नहीं बल्कि जनसेवा करना है. कमलनाथ ने अपने बयान में वह मध्य प्रदेश को विकास के पथ पर आगे ले जा रहे हैं इसी वजह से बीजेपी सरकार को अस्थिर करने में जुटी है.

यहां पढ़ें कमलनाथ का पूरा बयान

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि मैंने अपना समूचा सार्वजनिक जीवन जनता की सेवा के लिए समर्पित किया है. मेरे लिए सरकार होने का अर्थ सत्ता की भूख नहीं, जन सेवा का पवित्र उद्देश्य है. पंद्रह वर्षों तक भाजपा ने सत्ता को सेवा का नहीं भोग का साधन बनाए रखा था वो आज भी अनैतिक तरीके से मध्यप्रदेश की सरकार को अस्थिर करना चाहती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here